Wednesday, 20 March 2013

Shaayri by me

Kabhi tanhayi bhi
Mele si lagti thi.
Aaj Tanha hoon main itna
Ki tanhayi bhi sath nahi

Eng. Translation

There was a time when even loneliness seemed like a fair. Today I am so alone that even loneliness is not with me. 

मृत्यु के बाद भी क्या समाप्त नहीं होता?

जब सिकंदर की मृत्यु हुई तो उसने मरने से पहले ये कह रखा था कि जब उसकी शवयात्रा निकाली जाय तो उसके हाथ ताबूत से बाहर निकाल दिए जाएं। ताकि ल...